Sarhul – The Festival of Environment

Sarhul – The Festival of Environment : छोटानागपुर में सरहुल का पर्व चैत से बैशाख पूर्णिमा तक अलग अलग दिन में मनाये जाने की परंपरा है, लेकिन अवकाश के मद्देनजर और एकरूपता लाने के लिए चैत तृतीया को केन्द्रीय रूप से पर्व मनाये जाने लगा है | 1970 के बाद से हर वर्ष केन्द्रीय रूप में इसी दिन पर्व मनाया जाता है | लेकिन अभी भी अलग-अलग दिनों में सरहुल मनाने की परंपरा जारी है | जानिये सरहुल के बारे में विभिन्न समाचार पत्रों के लेखों से | 

Facebook Comments
31 Shares

Comments are closed.

error: Content is protected !!