Jharkhand Ratna Award for Silver Girl Madhumita Kumari


लोक सेवा समिति के द्वारा एशियाई गेम्स में झारखण्ड की बेटी सिल्वर मेडलिस्ट मधुमिता कुमारी को Jharkhand Ratna से सम्मानित किया गया, जो झारखण्ड का सर्वोच्य नागरिक सम्मान है।

मधुमिता ने झारखण्ड रत्न सम्मान को पुलवामा में शहीद हुए सभी वीर जवानों को समर्पित किया है।

शौक को बनाया करियर: वर्ल्ड कप खेल चुकी रामगढ़ जिले की मधुमिता बचपन से ही तीर चला रही है। मधुमिता के एक भाई और तीन बहन है। तीन बहनों में दूसरी नंबर पर मधुमिता को खेलने के लिए परिवार का पूरा सहयोग मिला। छोटी उम्र में ही टाटा की ओर से घाटो में संचालित सेंटर में वह अभ्यास करने लगीं। वर्ष 2008 में वह तीरंदाजी कोच प्रकाश राम के संपर्क में आईं। 2010 में सिल्ली सेंटर में चयन हुआ। मधुमिता के बड़े भाई चंद्रशेखर इंडियन रेलवे, धनबाद में पोस्टेड हैं। पिता चंद्रशेखर सिंह टाटा कंपनी में कार्यरत हैं। पूरा परिवार रामगढ़ जिले के घाटो में ही रहता है।

Facebook Comments
99 Shares
error: Content is protected !!