Jharkhand Current Affairs : 13-14-15 August 2017

Daily Jharkhand Current Affairs for 13-14-15 August 2017 with important short notes on current events and newspaper summary.

SC, ST to get permanent Caste Certificate

अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाती का जाती प्रमाण पत्र स्थायी रूप से बनाया जाएगा | इनके लिए जाती प्रमाण पत्र की समय सीमा की बाध्यता ख़त्म कर दी गयी है | मुख्यमंत्री रघुबर दास ने इसकी घोषणा सदन में की | साथ थी सीएम ने कहा की अब पंचायत सेवक घर-घर जाकर आवेदन लेंगे |

Jharkhand police launches Dial 100

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार को एकीत डायल 100 का ऑनलाइन उद्घाटन किया। झारखंड डायल 100 जिला केंद्र अपने जिले के पुलिस पीसीआर वाहनों को सीधे नियंत्रित करता है। राज्य के 24 जिलों में पीसीआर वाहनों को तैनात किया गया है। आपातकालीन सहायता की आवश्यकता से संबंधित कोई भी जानकारी प्राप्त होने पर निकटतम पीसीआर वाहन अथवा पुलिस स्टेशन द्वारा नागरिकों को सहायता प्रदान की जाएगी। फोन करने के 15 मिनट के अंदर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 25 मिनट के अंदर पुलिस पहुंचेगी ।



Jharkhand assembly passes an amendment to the Land Acquisition Act 2013

भूमि अर्जन, पुनर्वास और पुनर्व्यवस्थापन में उचित प्रतिकार और पारदर्शिता का अधिकार (झारखंड संशोधन) विधेयक 2017 को राज्यपाल के पास भेजा जाएगा। राज्यपाल इसे स्वीकृति के लिए राष्ट्रपति के पास भेजेंगी। राष्ट्रपति की स्वीकृति मिलने के बाद ही यह विधेयक कानून का रूप लेगा।

कानून बनने के बाद सरकार स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी, अस्पताल, पंचायत भवन, आंगनबाड़ी केंद्र, रेल, सड़क, जलमार्ग, विद्युतीकरण, सिंचाई, आर्थिक रूप से कमजोर के लिए आवास, जलापूर्ति पाइप लाइन, ट्रांसमिशन अन्य सरकारी भवन के लिए जमीन अधिग्रहण कर सकेगी। इसे एक जनवरी 2014 से ही प्रभावी बनाने का प्रस्ताव है |

Jharkhand assembly passes Religious Independence Bill 2017

धर्म स्वतंत्र बिल-2017 ध्वनिमत से पारित हो गया। इसमें प्रलोभन, जोर-जबरदस्ती या धोखे से धर्म परिवर्तन कराने पर पूरी तरह से रोक लगाने की व्यवस्था की गई है।

जबरन बल प्रयोग, प्रलोभन या कपट करते हुए धर्म परिवर्तन कराने पर तीन साल की सजा या 50 हजार रुपए जुर्माना या दोनों का प्रावधान किया गया है।

अगर यह अपराध नाबालिग, महिला या अनुसूचित जाति-जनजाति के प्रति किया गया तो चार साल की जेल और एक लाख रुपए जुर्माना देना होगा।

कोई व्यक्ति दूसरे धर्म को अपनाना चाहता है तो उसे पहले निर्धारित फॉर्म में संबंधित जिले के डीसी से अनुमति लेनी होगी। इसका उल्लंघन करने पर एक साल जेल या पांच हजार रुपए जुर्माना या दोनों दंड दिया जाएगा।

Facebook Comments

You may also like...

error: Content is protected !!