झारखंड के केंद फल के फायदे

इन दिनों स्वाद में अनूठे और पौष्टिकता से भरपूर जंगली मीठा फल ‘केंद’ बाजार में खूब बिक रहा है। आमतौर पर इसे केंद या केंदु फल कहा जाता है। तेंदु, तिरिल, केंदा, तिड़ैल, तेला नाम से भी यह प्रसिद्ध है।…
Sarhul – The Festival of Environment

Sarhul – The Festival of Environment : छोटानागपुर में सरहुल का पर्व चैत से बैशाख पूर्णिमा तक अलग अलग दिन में मनाये जाने की परंपरा है, लेकिन अवकाश के मद्देनजर और एकरूपता लाने के लिए चैत तृतीया को केन्द्रीय रूप…
जील जोम उत्सव

कोल्हान के आदिवासी बहुल इलाकों में इन दिनों जील जोम उत्सव का दौर चल रहा है। पांच साल में एक बार होने वाले इस उत्सव को अलग-अलग गांव में अलग-अलग वर्ष मनाया जाता है। पांच वर्ष का चक्र पूरा होने…
Names of Blocks of Jharkhand

झारखण्ड में कितने प्रखण्ड हैं ? झारखण्ड के प्रखण्ड के नाम ? Number and Names of Blocks in Jharkhand, Blocks of Jharkhand, List of 263 Blocks of Jharkhand. झारखण्ड के 263 प्रखण्ड की सूची |
The 2017 Nobel Prize in Peace

The Norwegian Nobel Committee has decided to award the The 2017 Nobel Prize in Peace to the International Campaign to Abolish Nuclear Weapons (ICAN). The organization is receiving the award ”for its work to draw attention to the catastrophic humanitarian…
The 2017 Nobel Prize in Chemistry

The Royal Swedish Academy of Sciences has decided to award The 2017 Nobel Prize in Chemistry to Jacques Dubochet, Joachim Frank and Richard Henderson “for developing cryo-electron microscopy for the high-resolution structure determination of biomolecules in solution.”